Pati-Patni Ke Beech Ki Naunk Jhonk

by HindiMein.com on August 8, 2016

in Hindi Husband Wife Jokes

पति पत्नी के बीच की नोंक झोंक :-
पति :- हाँ अरे, सुन रही हो?
बीवी :- बिलकुल नहीं जी, मैं तो जनम से ही बहरी हूँ… हैं ना ??
पति :- मैंने ऐसे तो नहीं बोला ??
बीवी :- हाँ, तो अब बोल लो, और पूरी कर लो अपने दिल की भड़ास…
पति :- अरे भाग्यवान, तुम तो सुन ही नहीं रही हो…
बीवी :- एक बात कान खोल के सुन लो, मुझे आज के बाद कभी भी भाग्यवान नहीं कहना, मेरे तो कर्म ही फुट गए तुमसे शादी करके और तुम हो कि मुझे भाग्यवान कह रहे हो…
पति :- अच्छा चलो ये बताओ कि क्या कप चाय मिल सकती है मुझे ??
बीवी :- एक कप ही क्यों, पूरा जग भरकर मिलेगी और तुम ये सुना किसको रहे हो?? क्या मैंने आज तक तुम्हे चाय बना कर नहीं दी क्या ???
पति :- अरे…. जान कभी तो ठीक से बात कर लिया करो मुझसे …
बीवी :- बस अब यही सुनना बाकी रह गया था … मुझे तो ठीक से बात करनी आती ही नहीं ना… मेरा तो मुँह ही खराब है, है ना ??
पति :- हे भगवान्…
बीवी :- हाँ हाँ, मांग लो भगवान् से ही अब एक कप चाय, मैं तो नहाने जा रही हूँ और सुनो मैंने बाल भी धोने है इसलिए देर हो जाएगी, तुम बच्चो को स्कूल से लेकर आ जाना, मुझ अकेले के नहीं हैं वो …
पति :- अब ये सब क्या बोल रही हो ??
बीवी :- क्यों, मैंने कोई गलत बोल दिया क्या ?? क्या तुम्हारी औलाद नहीं हैं वो? मैं क्या उन्हें दहेज़ में साथ लेकर आई हूँ ??
पति :- मैं कौन सा कुछ बोल रहा हूँ तुम्हे ??
बीवी :- हाँ, तुम बहुत सीधे हो, बोलते ही कहाँ हो ?? मैं तो चुपचाप बैठी थी, किसने पहले बोलना शुरू किया ये बताओ ??
पति :- अरे मैंने तो सिर्फ एक कप चाय के लिए ही पुकार रहा था तुम्हे….
बीवी :- चाय के लिए बुला रहे थे या तुमने मुझे बहरी कहा ?? क्या मतलब था तुम्हारा ये बोलने का “अरे सुन रही हो …? इसका क्या मतलब होता है बताओ मुझे भला …
पति :- अरे जान, कभी तो मीठा भी बोल लिया करो…
बीवी :- अच्छा तो अब मैं कभी मीठा भी नहीं बोलती ??? हाँ मैं तो कड़वा ही बोलती हूँ हमेशा? तो क्या ये दो-दो बच्चे पडोसी की दें है ?? देख लिया मैंने मीठा बोलकर अब और हिम्मत नहीं है बोलने की कुछ …
पति :- अच्छा बाबा मुझे अपनी बात तो पूरी करने दो अब . मैं ये कह रहा था कि मैं पति हूँ तुम्हारा और …
बीवी :- अच्छा, मुझे तो जैसे पता ही नहीं था … बताने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया …
पति :- अरे नहीं चाहिए अब तुम्हारी चाय, बस ये बकवास बंद करो अब …
बीवी :- शाबाश, तुम्हे तो बोलना भी आता है , बहुत बढ़िया … अब चाय पी कर जाना, बाद में नाहा लूंगी मैं …
पति :- तुम भी कमाल करती हो , पहले तो बिना बात के झगड़ा करती हो और फिर कहती हो कि चाय पीकर जाओ …
बीवी :- तो मैं अब और क्या कर ?? तुम झगड़ा करने का मौका ही कहाँ देते हो ?? अब अगर मन करे तो क्या पडोसी से लड़ने जौ ??
पति :- चलो अब चाय जल्दी बना लो , बच्चो को लाने में देर हो जाएगी वार्ना ..
बीवी :- बस अभी लो जी, दो मिनट में लाई ..

Pati-patni ke beech ki naunk-jhonk:-
Pati :- ajee sunti ho??
Biwi :- nahi, main to janam se behi hoon… hai naa?
Pati :- maine kab aise kaha??
Patni :- Haan, to ab keh lo, puri kar lo apne dil ki bhadaas…
Pati :- Are Bhagywaan, tum to sun hi nahi rahi ho…
Patni: Ek baat kaan khol ke sun lo, mujhe aajke baad kabhi bhi bhagyawaan nahi kehna, mere to karam hi foot gaye tumse shaadi karke aur mujhe bhagyawaan keh rahe ho…
Pati :- Achchha chalo ek cup chai milegi kya??
Patni:- Ek cup hi kyon, pura jug bharkar milegi aur tum ye suna kisko rahe ho?? Kya maine aaj tak tumhe chai bana kar nahi di kya hai???
Pati :- Arey…. jaan kabhi to seedhe moonh baat kar liya karo mujhse…
Patni:- bus yehi sunna baaki reh gaya tha… mujhe to seedhe munh baat karna aata hi nahi naa… mera to moonh teda hai, hai na??
Pati :- hey bhagwaan…
Patni:- Haan haan, maang lo bhagwaan se hi ab ek cup chaai, main to nahaane jaa rahi hoon aur suno maine baal bhi dhone hai isliye der ho jayegi, bachcho ko school se lekaar aa jaana, mere akele ke nahi hain wo…
Pati :- Ab ye sab kya bol rahi ho??
Patni:- Kyon, maine koi jhooth bola kya?? Kya maine inhe dahej mein saath lekar aai hoon??
Pati:- Main kaun sa kuchh bol raha hoon tumhe??
Patni:- Haan, tum bolte hi kahan ho?? Main to chupchaap baithi thi, kisne pehle bolna shuru kiya ye batao??
Pati:- Are maine sirf ek cup chai hi to maangi thi tumse…
Patni: Chai maangi thi ya mujhe behri kaha tha?? Kya matlab tha tumhara ye bolne ka “aji sunti ho…? kya matlab hota hai iska batao mujhe bhala…
Pati:- Are jaan, kabhi to meetha bol liya karo…
Patni:- Achchha to ab main kabhi meetha bhi nahi bolti??? to kya ye do do bachche padosi ki den hai?? Dekh liya maine meetha bolkar ab aur himmat nahi hai bolne ki kuchh…
Pati :- Are baba mujhe apni baat to puri karne do ab. Main ye keh raha tha ki main pati hoon tumhara aur …
Patni:- Achchha, mujhe to jaise pata hi nahi tha… bataane ke liye shukriya…
Pati:- Are nahi chahiye ab tumhari chai, bus ye bakwaas band karo ab…
Patni:- Shabaash, tumhe to bolna bhi aata hai, bahut badhiya… ab chai pee kar jaana, baad mein naha lungi main…
Pati:- Tum bhi kamaal ki ho, pehle to bina baat ke jhagda karti ho aur fir kehti ho ki chai peekar jaao…
Patni:- To main kya karu?? Tum jhagda karne ka mauka hi kahan dete ho?? Ab agar mann kare to kya padosi se ladne jaau??
Pati:- chalo ab chai jaldi bana lo, bachcho ko laane mein der ho jayegi varna..
Patni:- Bus abhi lo, ek minute mein laai..

Our other portals you may be interested in
pin-code.co is an online portal on pin code directory of India.
ifsc-code.co is an exclusive directory of banks ifsc codes operating in India.
www.indiastdcode.com is a std code search directory of Indian cities and states.

Leave a Comment

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
 

Previous post: