The Greedy Dog – Lalchi Kutta

by HindiMein.com on January 25, 2015

in Moral Stories, Short Stories

एक बार एक कुत्ते को बहुत जोरो की भूख लगती है | रास्ते में चलते हुए अचानक उसे एक रोटी मिलती है | वो उस रोटी को मुँह में डाल कर नदी की ओर चल दिया ताकि नदी पार करके सुकून से बैठकर उसे खा सके | नदी पर एक छोटा सा पुल बना हुआ था | नदी का पुल पार करते समय उस कुत्ते को नदी के पानी में अपनी परछाई दिखाई देती है | उसने अपनी परछाई को देखकर उसे कोई दूसरा कुत्ता समझा और उसके मुँह की रोटी को छीनने का लालच उसके मन में आया | रोटी छीनने के लिए उसने भोंकते हुए उस नदी में छलांग लगा दी | मुँह खोलते ही उसके मुँह की रोटी नदी के पानी में गिर कर बह गयी और वो लालची कुत्ता भूखा रह गया |

सीख : इसलिए कहते हैं कि लालच बुरी बला है |

Hindi in English Letters:

Ek baar ek kutte ko bahut joro ki bhookh lagti hai. Raaste mein chalte huye achaanak usey ek roti milti hai. Wo us roti mooh mein daalkar nadi ki aur chal diya taaki nadi paar karke sukoon se baithkar usey khaa sake. Nadi ka pool paar karte samay us kutte ko nadi ke paani mein apni parchhaayi dikhaayi deti hai. Usne apni parchhaayi ko koi dusra kutta samjha aur uske mooh ki roti chhinane ka laalch uske man mein aaya.Roti chheenne ke liye ussne bhokte huye us nadi mein chhalaang lagaa di. Mooh kholte hi uske mooh ki roti nadi ke paani mein gir kar beh gayi aur wo laalchi kutta bhookha rah gaya.

Seekh: Isliye kehte hain hai ki laalach buri bala hai.

Leave a Comment

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
 

Previous post:

Next post: