Choona (Chuna) Khaane Se Hone Wale Laabh

चूना खाने से होने वाले लाभ

सुबह-सुबह खाली पेट चूना खाइये, इसका सेवन अमृत के समान है |
चूना, जो आमतौर पर लोग पान में मिलाकर खाते है, लगभग सत्तर प्रकार की बीमारियों को ठीक करता है चूने का सेवन |

चूने का उपयोग पीलिये के इलाज के लिए :-
अगर किसी को पीलिया हो जाये यानी कि जॉन्डिस, उसके लिए सबसे बेहतरीन इलाज है चूना |
गन्ने के रस में गेहूँ के दाने के बराबर चूना मिलाकर रोगी को पिलाने से पीलिया बहुत जल्दी ठीक हो जाता है |

नपुंसकता के लिए उपयोग :-
चूना नपुंसकता के लिए सबसे बेहतरीन औषधी है :-
अगर किसी व्यक्ति के शुक्राणु नही बनते हैं तो उस व्यक्ति को गन्ने के रस में चूना मिलाकर पिलायें | ऐसा लगातार करने पर लगभग साल या डेढ़ साल के अंदर भरपूर शुक्राणु बनने शुरू हो जायेंगे |
जिन महिलाओं के शरीर में अन्डे नही बनते, उनके लिए भी चूने का सेवन बहुत अच्छा इलाज है |

लम्बाई एवं बुद्धि बढ़ाने के लिए :-
जिन विद्यार्थियों या बच्चों की लम्बाई ठीक तरह से नहीं बढ़ रही है उनके लिए चूना रामबाण इलाज है | ये कद को बढ़ाता है | गेहूँ के दाने के बराबर चूना रोज दही में मिलाकर खायें | अगर दही उपलब्ध नहीं है तो दाल में मिलकर खायें, और अगर दाल भी नही है तो पानी में मिलाकर पीयें, इससे लम्बाई बढ़ने के साथ-साथ याद करने की क्षमता भी बढ़ती है |
जिन बच्चों दिमाग कम काम करता है उनके लिए सबसे अच्छी दवा है चूने का सेवन | जो बच्चे दिमागी रूप से कमजोर होते हैं, या जिनका दिमाग बहुत देर से काम करता है, या देर में सोचते हैं या जिनकी हर चीज करने की क्षमता धीमी होती है, उन सभी बच्चों को चूना खिलाने से वो ठीक हो जायेंगे |

मासिक धर्म के लिए :-
जिन लड़कियों को अपने मासिक धर्म के समय कुछ भी परेशानी होती हो तो उसके लिए सबसे अच्छी औषधी है ये चूना | हमारे घर में जो बुजुर्ग महिलाएँ हैं जिनकी उम्र पचास वर्ष या उससे अधिक हो गयी हो और उनका मासिक धर्म बंद हो गया है, उनके लिए सबसे अच्छी दवा है चूना; गेहूँ के दाने के बराबर चूना हर दिन दाल में, या फिर लस्सी में, नही तो पानी में घोल कर लें ।

गर्भवती माता और होने वाले बच्चे के बेहतर स्वास्थ्य के लिए :-
अगर कोई महिला गर्भावस्था में है तो उसे रोज चूने का सेवन करना चाहिए | गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को सबसे ज्यादा कैल्शियम की जरुरत होती है और चूने में कैल्शियम भरपूर मात्रा में भरा होता है |

गर्भवती माँ को चूना कैसे खिलायें?
अनार के जूस में – एक कप अनार का जूस और उसमें गेहूँ के दाने के बराबर चूना मिलाकर रोज गर्भवती महिला को नौ महीने तक लगातार दीजिये, इससे चार लाभ होंगे :-
पहला लाभ – माँ को बच्चे के जन्म के समय कोई परेशानी नही होगी और डिलीवरी सामान्य होगी,
दूसरा लाभ – बच्चा बहुत ही हष्ट-पुष्ट और तंदुरुस्त पैदा होगा |
तीसरा लाभ – वो बच्चा जिन्दगी में कभी भी जल्दी बीमार नही पड़ेगा जिसकी माँ ने गर्भावस्था के दौरान चूना खाया हो,
चौथा और सबसे बड़ा फायदा – बच्चा दिमागी रूप से बहुत ही होशियार और अकल्मन्द होता है और उसका IQ लेवल बहुत ही अच्छा होता है ।

खून की कमी को दूर करने के लिए :-
हमारे शरीर में अगर खून की कमी हो जाये तो चूना जरुर लेना चाहिए | अगर एनीमिया है अथवा शरीर में खून की कमी है तो उसके लिए सबसे अच्छी दवाई है ये चूना |
सुबह खली पेट गन्ने के रस में गेंहू के दाने के बराबर चूना मिलकर पीते रहें या फिर संतरे के रस में मिलाकर पियें | अगर अनार के जूस में मिलाकर लें तो सबसे अच्छा असर करता है | सुबह खाली पेट अनार के जूस में गेंहू के दाने के बराबर चूना मिलाकर पीने से शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ती है एवं तेज़ी से खून बनता है |

सुबह खाली पेट चूना खाने के अन्य लाभ:-

  1. घुटने का दर्द ठीक होता है |
  2. कमर का दर्द दूर करता है |
  3. कंधे का दर्द ठीक करता है |
  4. एक बेहद खतरनाक बीमारी है जिसे Spondylitis (स्पॉन्डिलाइटिस) कहते हैं, ये चुने के सेवन से ठीक होती है ।
  5. कई बार हमारी रीढ़ की हड्डी में जो मनके होते है उनमें दूरी बढ़ जाती है यानी कि Gap आ जाता है, ये परेशानी चूना ठीक करता है |
  6. रीड़ की हड्डी की सारी बीमारियाँ चूने से ठीक होती हैं |
  7. अगर आपके शरीर की कोई हड्डी टूट जाये तो टूटी हुई हड्डी को जोड़ने की ताकत सबसे ज्यादा चूने में होती है

मुंह में यदि ठंडा-गरम पानी लगता है तो चूना खाइये, ये परेशानी दूर हो जाती है |
मुंह में अगर छाले हो गए हैं तो चूने का पानी पीजिये, छाले तुरन्त ठीक हो जाते हैं |

भारत के जो लोग पान में चूना मिलाकर खाते है, वो बहुत होशियार लोग हैं पर कभी भी तम्बाकू मिलाकर मत खाना, तम्बाकू ज़हर है और चूना अमृत है !!
तो चूना खाइए तम्बाकू कभी ना खाइए और अगर पान खायें चूने का तो उसमे कत्था मत लगाइए, कत्था कैंसर करता है |
पान में सुपारी कभी ना डालें, सुपारी के बदले सोंठ, इलाइची, लौंग और केसर डालिए | ये सब डालिए पान में चूना लगाकर पर तम्बाकू, सुपारी और कत्था कभी नहीं डाले |

घुटने में अगर घिसाव आ गया हो और डॉक्टर कहे कि घुटना बदलना पड़ेगा तो भी जरुरत नही चूना खाते रहिये और हरसिंगार के पत्ते का काढ़ा खाइए, घुटने बहुत अच्छे काम करेंगे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
 

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.