Hindi Muhaavare – Bhaag 1

अपने मुँह मियाँ मिट्ठू बनना (खुद की तारीफ़ करना) :- अच्छे व्यक्तियों का अपना मुँह मियाँ मिट्ठू बनना अच्छी बात नहीं है |
अक्ल का घांस चरने जाना (समझ में नहीं आना) :- क्या तुम्हारी अक्ल घास चरने गयी है जो तुम्हे समझ में नहीं आ रहा है ??
अपने पैरों पर खड़ा होना (आत्मनिर्भर होना) :- इंसान को शादी अपने पैरों पर खड़े होने के बाद ही करनी चाहिए |
अक्ल का दुश्मन (मूर्ख होना) :- तुम तो वाकई में अपनी अक्ल के दुश्मन हो जो खुद का नुक्सान करते रहते हो |
आँखों का तारा होना (बहुत प्रिय होना) :- हर माँ के लिए उसका बच्चा उसकी आँखों का तारा होता है |
बाल-बाल बचना (मौत के मुँह से बाहर आना) :- आज एक आदमी बस से टकराने के बाद मरने से बाल-बाल बचा !

Hindi Muhaavare Part 1 in English Letters:

Apne Moonh Miyaan Mitthoo Bananaa (Khud Ki Taarif Karna) :- Achche vyaktiyon ka apna moonh miyaan mitthoo bananna achchi baat nahi hai.
Akal ka Ghaans Charne Jaana (Samajh Mein Nahi Aana) :- Kya tumhari akal ghaas charne gayi hai jo tumhe samajh mein nahi aa raha hai ??
Apne Pairon Par Khada Hona (Swavlambi Hona) :- Insaan ko shaadi apne pairon par khade hone ke baad hi karni chahiye.
Akal Ka Dushman (Moorkh Hona) :- Tum to wakayi mein apni akal ke dushman ho jo khud ka nuksaan karte rehte ho.
Ankhon Ka Taara Hona (Bahut Priye Hona) :- Har maa ke liye uska bachcha uski aankhon ka taara hota hai.
Baal-Baal Bachna (Maut Ke Moonh Se Baahar Aana) :- Aaj ek aadmi bus se takraane ke baad marne se baal-baal bacha !

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
 

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.